• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

कैंटिलन प्रभाव (Cantillon Effect)

  • 11th August, 2022
  • कैंटिलन प्रभाव एक अर्थव्यवस्था में वस्तुओं और परिसंपत्तियों पर मुद्रास्फीति के असमान प्रभाव का वर्णन करता है। चूंकि नई कानूनी मुद्रा को विशिष्ट बिंदुओं पर अर्थव्यवस्था में प्रवेश कराया जाता है, इसलिये इसका प्रभाव अलग-अलग वर्गों और उद्योगों द्वारा अलग-अलग समय पर महसूस किया जाता है।
  • यह सापेक्ष कीमतों में विकृति का कारण बनता है और कुछ पक्षों को लाभ जबकि अन्य को हानि पहुँचाता है क्योंकि सभी कीमतों में एकसमान तथा एक ही समय में वृद्धि नहीं होती है।
  • कैंटिलन प्रभाव के परिणामस्वरूप उत्पन्न मुद्रास्फीति को सरकार द्वारा नागरिकों की क्रय शक्ति पर एक गैर-विधायी और प्रतिगामी कर के रूप में देखा जा सकता है।
CONNECT WITH US!

X