• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

मिनरवेरिया पेंटाली

  • 5th August, 2021

• दिल्ली विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने ‘पश्चिमी घाट’ में मेंढक की एक नई प्रजाति मिनरवेरिया पेंटाली की खोज की है। यह प्रजाति दक्षिण पश्चिमी घाट मुख्यतः केरल एवं तमिलनाडु की स्थानिक प्रजाति है।

• यह खोज विशाल, सामान्य तथा भारतीय मेंढकों के एक भ्रमित समूह 'मिनरवेरिया प्रजाति' (सामान्य नाम: मिनरवेरियन मेंढक) पर एक व्यापक अध्ययन के दौरान की गई थी। नई खोजी गई प्रजाति सबसे छोटे ज्ञात मिनरवेरियन मेंढकों में से एक है।

• यह प्रजाति डिक्रोग्लोसिडे (Dicroglossidae) कुल से संबंधित है। इसकी पहचान कई मानदंडों जैसे, बाहरी आकृति विज्ञान, डी.एन.ए. तथा कॉलिंग पैटर्न के आधार पर की गई है। इस प्रजाति का नाम दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं प्रसिद्ध पादप आनुवंशिकीविद् प्रो. दीपक पेंटल के नाम पर रखा है

• पश्चिमी घाट में उभयचर विविधता विशेष रूप से उल्लेखनीय है। यहाँ सभी ज्ञात भारतीय प्रजातियों (450 प्रजातियों) की लगभग आधे से अधिक प्रजातियाँ पाई जाती हैं। इनमें से 90% से अधिक इस क्षेत्र की स्थानिक प्रजातियाँ हैं, अर्थात वे विश्व में कहीं और नहीं पाई जाती हैं।

CONNECT WITH US!

X