• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में
7428 085 757
(Contact Number)
9555 124 124
(Missed Call Number)

Archive

हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शन वाहन : स्क्रैमजेट की क्षमता और महत्त्व

News Articles 16-Sep-2020

हाल ही में ‘रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन’ (DRDO) ने ‘हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शन वाहन’ (Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle-HSTDV) का सफल परीक्षण किया।

ट्रांस फैट (Trans Fats)

PT Cards 16-Sep-2020

हाल ही में, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान तथा कुछ अन्य देशों को ट्रांस फैट के जोखिम से जुड़ी चेतवानी दी है तथा इस पर तत्काल कार्रवाई करने को कहा है।

गुटनिरपेक्षता का विकल्प

News Articles 16-Sep-2020

हाल के दिनों में तमाम रणनीतिक समीकरणों और वैश्विक स्तर पर विभिन्न नए समूहों के बन जाने की वजह से गुटनिरपेक्ष आंदोलन की प्रासंगिकता कम हो गई है। इसके साथ ही भारत की विदेश नीति में भी गुटनिरपेक्षता का महत्त्व अब कम होने लगा है।

Current Affairs Quiz 134
  • 16-Sep-2020
  • 5 Questions
  • 5 Minutes

आप किसी प्रतिष्ठित कम्पनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। रमेश आपके कार्यालय के वरिष्ठ कर्मी हैं और अपने तकनीकी ज्ञान व प्रबंधकीय कौशल के लिये विख्यात हैं। कार्यालय की किसी भी समस्या को हल करने में उनका कोई मुकाबला नहीं है। व्यावहारिक स्थिति यह है कि कार्यालय की सम्पूर्ण व्यवस्था के संचालन की ज़िम्मेदारी उन्ही के ऊपर है।
एक दिन जब रमेश अवकाश पर थे तो कम्पनी में कार्यरत किसी अन्य व्यक्ति ने रमेश के द्वारा की जा रही लामबंदी से आपको अवगत कराया। दरअसल, रमेश कुछ अन्य सहकर्मियों को अपने साथ मिलाकर उन्हें दूसरी कम्पनी में ले जाने हेतु प्रेरित कर रहे हैं। आपके द्वारा गहन जाँच- पड़ताल करने पर उक्त बात की पुष्टि भी हुई।
प्रश्न :
1. उक्त समस्या को हल करने के लिये आप कौन-से कदम उठाएंगे?
2. रमेश एवं अन्य कर्मियों में विश्वास बहाली के लिये आप कौन-से उपाय अपनाएंगे?
3. रमेश के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही का भी विकल्प अपनाएंगे या नहीं? इस संदर्भ में अपना उचित मत प्रस्तुत करें।

16-Sep-2020 |

आप किसी प्रतिष्ठित कम्पनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। रमेश आपके कार्यालय के वरिष्ठ कर्मी हैं और अपने तकनीकी ज्ञान व प्रबंधकीय कौशल के लिये विख्यात हैं। कार्यालय की किसी भी समस्या को हल करने में उनका कोई मुकाबला नहीं है। व्यावहारिक स्थिति यह है कि कार्यालय की सम्पूर्ण व्यवस्था के संचालन की ज़िम्मेदारी उन्ही के ऊपर है।
एक दिन जब रमेश अवकाश पर थे तो कम्पनी में कार्यरत किसी अन्य व्यक्ति ने रमेश के द्वारा की जा रही लामबंदी से आपको अवगत कराया। दरअसल, रमेश कुछ अन्य सहकर्मियों को अपने साथ मिलाकर उन्हें दूसरी कम्पनी में ले जाने हेतु प्रेरित कर रहे हैं। आपके द्वारा गहन जाँच- पड़ताल करने पर उक्त बात की पुष्टि भी हुई।
प्रश्न :
1. उक्त समस्या को हल करने के लिये आप कौन-से कदम उठाएंगे?
2. रमेश एवं अन्य कर्मियों में विश्वास बहाली के लिये आप कौन-से उपाय अपनाएंगे?
3. रमेश के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही का भी विकल्प अपनाएंगे या नहीं? इस संदर्भ में अपना उचित मत प्रस्तुत करें।

16-Sep-2020 | GS Paper - 4

« »
  • SUN
  • MON
  • TUE
  • WED
  • THU
  • FRI
  • SAT
CONNECT WITH US!