New
Summer Sale - Upto 50-75% Discount on all Online Courses, Valid: 1-5 June | Call: 9555124124

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research)

प्रारंभिक परीक्षा- भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research)
मुख्य परीक्षा- सामान्य अध्ययन, पेपर-

चर्चा में क्यों

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR)  बीएसएल-3 (BSL-3) बीएसएल-4( BSL-4)  प्रयोगशालाओं के अपने नेटवर्क का विस्तार करेगा

Medical-Research

प्रमुख बिंदु :

  • प्रधानमंत्री-आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा मिशन (पीएम-एबीएचआईएम) के तहत भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद देश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को शुरू करने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वन हेल्थ( National Institute of One Health) की स्थापना के लिए भारत में आठ प्रमुख वैज्ञानिक संगठनों के साथ सहयोग कर रहा है।
  • यह स्वास्थ्य अनुसंधान के क्षेत्र में बहु-विषयक दृष्टिकोण को मजबूत करेगा।
  • आईसीएमआर के महानिदेशक ने कहा कि आईसीएमआर देश में नैदानिक बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और प्रयोगशाला सेवाओं तक पहुंच बढ़ाने के लिए बीएसएल-3 और बीएसएल-4 प्रयोगशालाओं के नेटवर्क का विस्तार करने के लिए भी काम कर रहा है।
  • सरकार ने भारत में सार्वजनिक स्वास्थ्य अनुसंधान को मजबूत करने और आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं।
  • आईसीएमआर ने विभिन्न प्राथमिकता वाले स्वास्थ्य मुद्दों पर अनुसंधान को मजबूत करने के लिए अपने इंट्राम्यूरल रिसर्च प्रोग्राम फंडिंग को सुव्यवस्थित करने के लिए काम किया है। 
  • इसने सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणालियों के लिए टीकों, दवाओं, रोग निदान और उपचार पर अनुसंधान के लिए धन बढ़ाने के लिए अपने एक्स्ट्रामुरल रिसर्च प्रोग्राम के तहत फंडिंग का विस्तार करने के लिए भी काम किया है।
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य अनुसंधान कार्यक्रम के शुभारंभ के साथ आईसीएमआर संक्रामक रोगों, गैर-संचारी रोगों सहित 12 प्रमुख स्वास्थ्य क्षेत्रों पर राष्ट्रीय और राज्य-स्तरीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभागों के साथ बड़े बहु-हितधारक अध्ययनों पर भी सहयोग करेगा।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research):

icmr

  • भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आई.सी.एम.आर) भारत में जैव-चिकित्सा अनुसंधान हेतु निर्माण, समन्वय और प्रोत्साहन के लिए शीर्ष संस्था है।
  • यह विश्व के सबसे पुराने आयुर्विज्ञान संस्थानों में से एक हैं। 
  • इस परिषद को भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त होती है।
  • इसका मुख्‍यालय नई दिल्‍ली में है।
  • केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री परिषद के शासी निकाय (governing body of the Council) के अध्यक्ष हैं।
  • भारत में आयुर्विज्ञान अनुसंधान को वित्तीय सहायता प्रदान करने और समन्वय स्थापित करने के विशेष उद्देश्य के साथ भारत सरकार द्वारा वर्ष 1911 में 'इंडियन रिसर्च फण्ड एसोसिएशन' की स्थापना की गई थी।
  • वर्ष 1949 में इसके कार्यों में विस्तार कर इसका नाम 'भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद' (आई सी एम आर) कर दिया गया।

कार्य

  • भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राथमिकताओं के अनुरूप शोध करता है जिनमें निम्नलिखित सम्मिलित हैं:
  •  संचारी रोगों पर नियंत्रण और उनका चिकित्सा प्रबन्ध
  •  प्रजनन क्षमता नियंत्रण एवं  मातॄ एवं शिशु स्वास्थ्य
  •  पोषणजन्य विकारों का नियंत्रण
  • स्वास्थ्य सुरक्षा वितरण हेतु वैकाल्पिक नीतियों का विकास
  •  पर्यावरणीय एवं व्यवसायिक स्वास्थ्य समस्याओं को रोकना
  •  कैंसर, हृदवाहिकीय रोगों, अंधता, मधुमेह तथा चयापचय एवं रुधिर विकारों जैसे प्रमुख असंचारी रोगों पर अनुसंधान
  •  मानसिक स्वास्थ्य अनुसंधान और औषध अनुसंधान ।

प्रश्न:  निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 

  1. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आई.सी.एम.आर) भारत में जैव-चिकित्सा अनुसंधान हेतु निर्माण, समन्वय और प्रोत्साहन के लिए शीर्ष संस्था है।
  2. भारत के स्वास्थ्य सचिव परिषद के शासी निकाय (governing body of the Council) के अध्यक्ष हैं।
  3. वर्ष 1950  में इसके कार्यों में विस्तार कर इसका नाम 'भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद' (आई सी एम आर) कर दिया गया।

उपर्युक्त में से कितने कथन सही हैं ?

(a) केवल एक 

(b) केवल दो 

(c) सभी तीनों  

(d) कोई भी नहीं 

उत्तर: (a)

मुख्य परीक्षा प्रश्न: भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद क्या  है? भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के प्रमुख कार्यों का वर्णन कीजिए। 

स्रोत: the hindu

Have any Query?

Our support team will be happy to assist you!

OR