• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

Sanskriti Mains Mission: GS Paper - 4

निष्काम कर्म की अवधारणा से आप क्या समझते हैं? वर्तमान परिदृश्य में इसकी प्रासंगिकता को स्पष्ट कीजिये।

21-Sep-2022 | GS Paper - 4

Solutions:

उत्तर प्रारूप-

भूमिका

प्रसिद्ध धर्मग्रंथ गीता के अनुसार निष्काम कर्म की अवधारणा की चर्चा करते हुए संक्षिप्त भूमिका लिखें।

मुख्य भाग 

वर्तमान परिदृश्य में निष्काम कर्म की प्रासंगिकता के अंतर्गत बढ़ती जनसंख्या की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये अवसर व संसाधनों की अपर्याप्तता, युवा एवं विद्यार्थी वर्ग में निराशा एवं असफलता का भाव, सिविल सेवकों द्वारा अपने कार्य निष्पादन एवं निर्णयन में इस अवधारणा की आवश्यकता आदि का उल्लेख करें।

निष्कर्ष

निष्काम कर्म के लिये मध्यममार्गी दृष्टिकोण की आवश्यकता पर बल देते हुए संक्षिप्त निष्कर्ष लिखें।

« »
  • SUN
  • MON
  • TUE
  • WED
  • THU
  • FRI
  • SAT
CONNECT WITH US!

X