• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

Sanskriti Mains Mission: GS Paper - 1

वैश्वीकरण के भारतीय सामाजिक एवं सांस्कृतिक विविधता पर पड़ने वाले प्रभावों की समालोचनात्मक विवेचना कीजिये। (250 शब्द)

16-Aug-2021 | GS Paper - 1

Solutions:

उत्तर प्रारूप

भूमिका (40-50 शब्द)

  • वैश्वीकरण को परिभाषित करते हुए संक्षिप्त भूमिका लिखें।

मुख्य भाग (140-150 शब्द )

  • भारतीय सामाजिक एवं सांस्कृतिक विविधता के मूल तत्त्वों जैसे-एक वैश्विक दृष्टिकोण, पारस्परिक सहयोग एवं सद्भाव की भावना, भाषाई, जातीय, धार्मिक, नस्लीय तथा क्षेत्रीय विविधता आदि की चर्चा करें।
  • भारतीय सामाजिक एवं सांस्कृतिक विविधता पर वैश्वीकरण के सकरात्मक प्रभाव जैसे- सांस्कृतिक समरूपता का उदय, शहरों का विकास, महिलाओं की स्वतंत्रता, रुढ़िवादी तत्वों का विरोध तथा नकरात्मक प्रभाव जैसे- पश्चिमी संस्कृति को बढ़ावा, खान-पान में बदलाव, सामाजिक मूल्यों में बदलाव, पारिवारिक संरचना में बदलाव इत्यादि की चर्चा करें।

निष्कर्ष (40-50 शब्द )

वर्तमान संदर्भ में वैश्वीकरण के महत्त्व जैसे- नवीन तकनीक का आगमन, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में वृद्धि, रोजगार के अवसरों का सृजन आदि का उल्लेख करते हुए संतुलित निष्कर्ष लिखें।

« »
  • SUN
  • MON
  • TUE
  • WED
  • THU
  • FRI
  • SAT
CONNECT WITH US!

X