• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

Sanskriti Mains Mission: GS Paper - 2

प्रशांत लघु द्वीपीय विकासशील देशों के साथ भारत के प्रगाढ़ होते संबंधों का विश्लेषण करते हुए सहयोग के संभावित क्षेत्रों की चर्चा कीजिये।

16-Sep-2022 | GS Paper - 2

Solutions:

उत्तर प्रारूप-

भूमिका

प्रशांत लघु द्वीपीय विकासशील देशों के बारे में संक्षिप्त भूमिका लिखें।

मुख्य भाग

  • भारत के साथ संबंधों की शुरुआत वर्ष 1948 में, वर्ष 2014 में भारतीय प्रधानमंत्री का फिजी दौरा, भारत-प्रशांत द्वीप समूह सहयोग मंच, भारत द्वारा सहायता, अनुदान और आसान ऋण के माध्यम से वित्तीय सहयोग आदि की चर्चा करें।
  • सहयोग के विभिन्न संभावित क्षेत्रों, जैसे- ऊर्जा एवं अक्षय ऊर्जा क्षेत्र, परिवहन क्षेत्र, नीति विकास में सहायता, प्रशांत क्षेत्रीय संवादों में भागीदारी, क्षमता निर्माण एवं प्रशिक्षण, अनुसंधान के अवसर आदि का उल्लेख करें।

निष्कर्ष

भारत-प्रशांत लघु द्वीपीय विकासशील देशों के मध्य स्थापित संबंधों से भारत को होने वाले लाभों की चर्चा करते हुए निष्कर्ष लिखें।

« »
  • SUN
  • MON
  • TUE
  • WED
  • THU
  • FRI
  • SAT
CONNECT WITH US!

X