• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

शॉर्ट न्यूज़

शॉर्ट न्यूज़: 14 सितम्बर, 2022


सवज  

पीएम-श्री स्कूल

खरीफ़ सीज़न में कृषि की स्थिति  


सवज  

चर्चा में क्यों

केंद्रीय गृह मंत्री ने अहमदाबाद के ट्रांस स्टेडियम में 36वें राष्ट्रीय खेलों के शुभंकर और गान का शुभारंभ किया। इस दौरान 11वें खेल महाकुंभ का भी समापन हुआ। 

प्रमुख बिंदु

  • शुभंकर को ‘सवज’ (Savaj) नाम दिया गया है जिसका गुजराती अर्थ ‘शावक’ होता है।
  • इसका गान एक भारत श्रेष्ठ भारत की थीम पर आधारित है।
  • राष्ट्रीय खेलों का आयोजन 29 सितंबर से 12 अक्तूबर तक छह शहरों- अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत, वडोदरा, राजकोट और भावनगर में किया जाएगा।

राष्ट्रीय खेल 

  • डॉ. ए.जी. नोहरन और हैरी क्रो बक के प्रयासों से वर्ष 1924 में अविभाजित भारत के लाहौर में भारतीय ओलंपिक खेलों के पहले संस्करण की शुरुआत हुई।
  • इसके पहले तीन संस्करण लाहौर में आयोजित किये गए। वर्ष 1938 में कलकत्ता में आयोजित इसके आठवें संस्करण के बाद इसे राष्ट्रीय खेल नाम दिया गया।
  • स्वतंत्रता के बाद पहली बार आयोजित राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी लखनऊ ने की, जबकि ओलंपिक की तर्ज़ पर पहला राष्ट्रीय खेल वर्ष 1985 में नई दिल्ली में आयोजित किया गया था।

राष्ट्रीय खेल दिवस

  • भारत में प्रत्येक वर्ष 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • इस दिन वर्ष 1905 में हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद का जन्म हुआ था। वर्ष 2012 में इसे पहली बार राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया गया।

पीएम-श्री स्कूल

चर्चा में क्यों

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षक दिवस के अवसर पर एक नई पहल- ‘प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया’ (पीएम-श्री) की घोषणा की है।

प्रमुख बिंदु

  • पीएम-श्री (Pradhan Mantri Schools For Rising India : PM-SHRI) योजना के तहत देश भर के 14 हजार 500 स्कूलों का विकास व उन्नयन किया जाएगा।
  • पीएम-श्री स्कूलों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप मॉडल स्कूल बनाया जाएगा। ये स्कूल शिक्षा प्रदान करने का आधुनिक, परिवर्तनकारी और समग्र तरीका प्रदान करेंगे।
  • वर्ष 2020 में प्रारंभ राष्ट्रीय शिक्षा नीति का उद्देश्य स्कूल और उच्च शिक्षा प्रणालियों में परिवर्तनकारी सुधारों का मार्ग प्रशस्त करना है।

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार

  • शिक्षक दिवस शिक्षाविद् और पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती पर मनाया जाता है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने वर्ष 2022 के लिये 46 चयनित शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किये। 
  • शिक्षा मंत्रालय का स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग देश के सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करने के लिये प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस पर राष्ट्रीय समारोह का आयोजन करता है।
  • राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करने का उद्देश्य देश में शिक्षकों के अद्वितीय योगदान को याद करना तथा उन्हें  सम्मानित करना है जिन्होंने अपनी प्रतिबद्धता और परिश्रम के माध्यम से न केवल स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया है बल्कि अपने छात्रों के जीवन को भी समृद्ध किया है।

खरीफ़ सीज़न में कृषि की स्थिति  

चर्चा में क्यों 

हाल ही में, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के 2 सितंबर के आँकड़ों के अनुसार मानसून के अंतिम चरण में होने के बावजूद उत्तर भारत में धान की बुवाई में कमी आई है।

धान क्षेत्र

  • नवीनतम आँकड़ों के अनुसार विगत वर्ष की तुलना में धान के रकबे में 22.90 लाख हेक्टेयर की कमी आई है। यह क्षेत्रफल वर्ष 2021 की तुलना में 5.6% कम है।
  • बुवाई क्षेत्रफल में सर्वाधिक कमी झारखंड में देखी गई है। कमी वाले अन्य राज्य मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और बिहार हैं। 
  • इसके विपरीत तेलंगाना (सर्वाधिक), हरियाणा, नागालैंड और गुजरात जैसे राज्यों में धान की बुवाई क्षेत्रफल में वृद्धि देखी गई है।
  • उच्च कृषि लागत, उर्वरकों के मूल्यों में वृद्धि, पानी की कमी आदि धान की बुवाई क्षेत्रफल में कमी के मुख्य कारण हैं।

अन्य क्षेत्र

  • कई क्षेत्रों में बाढ़ के कारण दालों के बुवाई क्षेत्रफल में भी कमी आई है। मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और असम जैसे राज्यों में दालों की बुवाई क्षेत्रफल में वृद्धि हुई है, जबकि महाराष्ट्र, तेलंगाना, झारखंड और कर्नाटक में कमी देखी गई है। 
  • अरहर /तूर और उड़द की खेती में विगत वर्ष की तुलना में कमी आई है। साथ ही, तिलहन के कृषि बुवाई क्षेत्र में भी कमी दर्ज़ की गई है। हालाँकि, गन्ने और कपास की खेती के क्षेत्रफल में वृद्धि हुई है। 

CONNECT WITH US!

X