• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

शॉर्ट न्यूज़

शॉर्ट न्यूज़: 31 अक्टूबर, 2022


सितरंग चक्रवात

पर्यावरण के लिये जीवन शैली (LiFE)


सितरंग चक्रवात

चर्चा में क्यों 

हाल ही में, सितरंग चक्रवात 100 किमी. प्रति घंटे की गति से बांग्लादेश में बारिसाल के निकट तिनकोना और सैंडविप द्वीप से टकराया।   

प्रमुख बिंदु

  • इस उष्णकटिबंधीय चक्रवात के कारण भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने भारत के चार उत्तर-पूर्वी राज्यों- असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी वर्षा का रेड अलर्ट जारी किया।
  • सितरंग चक्रवात का नाम थाईलैंड द्वारा रखा गया है, जिसे जिसे थाई भाषा में सी-ट्रांग (Si-trang) के रूप में पढ़ा जाता है
  • गौरतलब है कि उत्तरी हिंद महासागर में उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के नामकरण करने वाले 13 देशों में बांग्लादेश, ईरान, भारत, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, श्रीलंका, थाईलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, यमन, मालदीव, कतर और सऊदी अरब शामिल है। 

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग 

  • गठन– वर्ष 1875
  • मुख्यालय– नई दिल्ली
  • क्षेत्रीय कार्यालय– चेन्नई, मुंबई, कोलकाता, नागपुर, गुवाहाटी, नई दिल्ली
  • संबंधित मंत्रालय– पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
  • आई.एम.डी., विश्व मौसम विज्ञान संगठन के 6 क्षेत्रीय विशिष्ट मौसम विज्ञान केंद्रों में से एक है।
  • इसके पास उत्तरी हिंद महासागर क्षेत्र में उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के पूर्वानुमान, नामकरण और वितरण की ज़िम्मेदारी है। इसमें मलक्का जलडमरूमध्य, बंगाल की खाड़ी, अरब सागर और फारस की खाड़ी शामिल हैं।

पर्यावरण के लिये जीवन शैली (LiFE)

चर्चा में क्यों  

हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के साथ गुजरात के केवडिया से पर्यावरण के लिये जीवन शैली (LiFE) अर्थात् लाइफ मिशन का शुभारंभ किया। 

मिशन लाइफ के उद्देश्य

  • यह मिशन रोजमर्रा के जीवन में पर्यावरण की सुरक्षा के लिये प्रतिबद्ध करता है। इस मिशन के अनुसार मानव समाज अपनी जीवनशैली में बदलाव करके पर्यावरण की रक्षा कर सकता है।
  • मिशन लाइफ हम सभी को पर्यावरण का ट्रस्टी बनाता है। ट्रस्टी वह होता है जो संसाधनों के अंधाधुंध प्रयोग की अनुमति नहीं देता है। एक ट्रस्टी एक पोषणकर्ता के रूप में कार्य करता है न कि एक शोषक के रूप में।
  • यह अभियान पी3 मॉडल यानी प्रो प्लैनेट पीपल की अवधारणा को मजबूत करता है। यह लाइफ स्टाइल ऑफ द प्लेनेट, फॉर द प्लेनेट एंड बाय द प्लेनेटके मूल सिद्धांत पर आधारित है।
  • विदित है कि 1 नवंबर, 2021 को ग्लासगो में कोप-26 में प्रधानमंत्री द्वारा लाइफ अवधारणा को प्रस्तुत किया गया था।

मिशन लाइफ के तहत त्रिस्तरीय रणनीति

  • व्यक्तियों को अपने दैनिक जीवन (मांग) में सरल लेकिन प्रभावी पर्यावरण के अनुकूल कार्यों का अभ्यास करने के लिये प्रेरित करना।
  • उद्योगों और बाजारों को बदलती मांग (आपूर्ति) के लिये तेजी से प्रतिक्रिया देने में सक्षम बनाना।
  • सतत उपभोग और उत्पादन नीति का समर्थन करने के लिये सरकार और औद्योगिक नीति में परिवर्तन करना।

CONNECT WITH US!

X