New
UPSC GS Foundation (Prelims + Mains) Batch | Starting from : 8 April 2024 | Call: 9555124124

ताइवान में 7.4 तीव्रता का भूकंप आया

प्रारम्भिक परीक्षा – ताइवान में 7.4 तीव्रता आया भूकंप आया
मुख्य परीक्षा - सामान्य अध्ययन पेपर-1 (भूगोल)

चर्चा में क्यों 

हाल ही में ताइवान के पूर्वी हिस्से में 7.4 की तीव्रता वाला भूकंप आया।

earthquake

प्रमुख बिंदु :-

  • इस भूकंप की तीव्रता 7.4 थी।
  • इसका केंद्र ताइवान के हुआलिएन शहर से 18 किलोमीटर (11 मील) दक्षिण में 34.8 किलोमीटर की गहराई पर था।
  • इस भूकंप के कारण जापान के कुछ हिस्सों में भी भूकंप के झटके महसूस किये गए। 
  • इस भूकंप के पश्चात् दक्षिणी जापान के कुछ हिस्सों में सुनामी की चेतावनी जारी की गई। 
  • इससे पहले ताइवान में सितंबर 1999 में 7.6 तीव्रता का भूकंप आया था। 

ताइवान एवं जापान में भूकंप आने का कारण :-

  • ताइवान एवं जापान दोनों यूरेशिया एवं परि-प्रशांत प्लेटों के मध्य स्थित है।
  • इन प्लेटों के संचलन के कारण यहाँ लगभग प्रतिदिन लगभग 1,500 भूकंप के झटके महसूस किये जाते हैं। 
  • कभी-कभी भूकंपों की तीव्रता अत्यधिक होने के कारण इन देशों को अत्यधिक जन-धन की क्षति तथा सुनामी का सामना करना पड़ता है।  
    • सुनामी (Tsunami):-'स्यू-ना-मी' जापानी भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ है तट पर आती समुद्री लहरें। 
    • इनका ज्वारीय तरंगों से कोई संबंध नहीं होता है। 
    • ये वस्तुतः बहुत लंबी एवं कम कंपन वाली समुद्री लहरें हैं, जो महासागरीय भूकंपों के प्रभाव से महासागरों में उत्पन्न होती हैं।  
  • जापान के उत्तर-पूर्वी तट पर मार्च 2011 में भूकंप के कारण सुनामी आई थी। 

भूकंप (Eearthquake) :-

earthquake-tiwan

  • यह भू-पृष्ठ पर होने वाला आकस्मिक कंपन है।
  • इसकी उत्पत्ति प्राकृतिक रूप से भू-तल के नीचे (भू-गर्भ में) होती है। 

भूकंप की उत्पत्ति के कारण :-

  • इसकी उत्पत्ति प्राकृतिक एवं मानवीय दोनों ही कारणों से हो सकती है।
  • प्राकृतिक कारणों में ज्वालामुखी क्रिया, प्लेट विवर्तनिक घटनाएं एवं भूगर्भिक गैसों का प्रसार आदि हैं। 
  • कृत्रिम या मानव निर्मित भूकंप मानवीय क्रियाओं की अवैज्ञानिकता के कारण आते हैं।

fault-scrap

  • भूकंप आने के पहले वायुमंडल में 'रेडॉन' गैसों की मात्रा में वृद्धि हो जाती है। 
  • जिस स्थान पर इस गैस की मात्रा में वृद्धि होती है, वहां भूकंप आने का संकेत होता है। 
  • जहाँ भूकंपीय तरंगें उत्पन्न होती हैं, उसे 'भूकंप मूल' (Focus) कहा जाता है तथा जहाँ सबसे पहले भूकंपीय तरंगों का अनुभव किया जाता है, उसे भूकंप केन्द्र (Epi-centre) कहा जाता है ।

Epi-centre

भूकंपों की तीव्रता का मापन :-

  • वर्तमान समय में दो पैमानों के आधार भूकंप का मापन किया जाता है- 
  1. मरकेली पैमाना तथा 2. रिक्टर पैमाना ।

भूकंप का विश्व वितरण (World Distribution of Earthquake):

  • पृथ्वी की सतह पर भूकंपों एवं ज्वालामुखीयता से प्रभावित क्षेत्रों के विश्व वितरण में एक प्रकार का संबंध है, क्योंकि दोनों का ही संबंध भू-गर्भ में होने वाले अंतर्जनित भू-संचलन से है। 
  • पृथ्वी की सतह पर भूकंपों का वितरण पेटियों के रूप में फैले हुए क्षेत्रों में पाया जाता है, जिसे भूकंप पेटी कहते हैं।
  • भूकंप की मुख्य पेटियों में 1. परि-प्रशांत महासागरीय पेटी 2. मध्य अटलांटिक पेटी तथा 3. मध्य महाद्वीपीय पेटी सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण हैं।

भूकंप का प्रभाव 

  • भूकंप विनाशकारी होते हैं, जिनसे तीव्रता के अनुसार, अधिक जन-धन की क्षति होती है। 
  • भूकंप से सागरों में अप्रत्याशित ऊंची लहरें उठती (ज्वार) है, जिससे तटीय क्षेत्रों में भयंकर बाढ़ आ जाती है।
  • पर्वतीय भागों में भूस्खलन होता है। 
  • इससे भूमि में उत्थान अथवा निमज्जन की घटना भी होती है।

प्रारंभिक परीक्षा प्रश्न :- हाल ही में किस एशियाई देश में 7.4 की तीव्रता वाला भूकंप आया?

(a) जापान 

(b) ताइवान  

(c) उत्तर कोरिया  

(d) दक्षिण कोरिया 

उत्तर (b)

Have any Query?

Our support team will be happy to assist you!

OR