New
IAS Foundation New Batch | Optional Subject History / Geography | Call: 9555124124

जेसीबी साहित्य पुरस्कार,2023

प्रारंभिक परीक्षा – समसामयिकी

संदर्भ-

  • तमिल लेखक पेरुमल मुरुगन ने अपने उपन्यास 'फायर बर्ड' के लिए साहित्य का वर्ष,2023 का जेसीबी पुरस्कार जीता।

JCB-Literary-Award

मुख्य बिंदु-

  • 'फायर बर्ड' का तमिल से अंग्रेजी में अनुवाद जननी कन्नन द्वारा किया गया था।
  • यह पुस्तक मूल रूप से आलंदा पैची के रूप में प्रकाशित हुई थी।
  • यह पुस्तक पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया द्वारा प्रकाशित की गई थी। 
  • पुरस्कार समारोह में मुरुगन और कन्नन की अनुपस्थिति के कारण प्रकाशक और लेखिका मानसी सुब्रमण्यम ने उनकी ओर से पुरस्कार प्राप्त किया।
  • मुरुगन ने 12 उपन्यास, लघु कथाओं के छह संग्रह, कविता के छह संकलन और कई गैर-काल्पनिक किताबें लिखी हैं।
  • मुरुगन के दस उपन्यासों का अंग्रेजी में अनुवाद किया गया है, जिनमें 'सीज़न्स ऑफ़ द पाम', 'करंट शो' और 'वन पार्ट वुमन' शामिल हैं।
  • जेसीबी पुरस्कार की पांच सदस्यीय जूरी के अध्यक्ष लेखक श्रीनाथ पेरूर थे।
  • जूरी में लाउंज स्तंभकार सोमक घोषाल, नाटककार महेश दत्तानी, संरक्षण पत्रकार स्वाति त्यागराजन और सर्जन-उपन्यासकार कावेरी नांबिसन भी शामिल थे।
  • पुरस्कार की घोषणा जेसीबी समूह के अध्यक्ष लॉर्ड बैमफोर्ड द्वारा की गई और जेसीबी इंडिया लिमिटेड के सीईओ और प्रबंध निदेशक दीपक शेट्टी द्वारा व्यक्तिगत रूप से इसे प्रदान किया गया। 
  • पुरस्कार के लिए चयनित अंतिम सूची में शामिल अन्य पुस्तक थे- 
    1. तेजस्विनी आप्टे-रह्म की 'द सीक्रेट ऑफ मोर' (एलेफ बुक कंपनी)
    2. मनोरंजन बयापारी Manoranjan (Byapari) की 'द नेमेसिस' (वेस्टलैंड बुक्स)
    3. विक्रमजीत राम की 'मंसूर' (पैन मैकमिलन इंडिया)
  1. मनोज रूपदा की 'आई नेम्ड माई सिस्टर साइलेंस' (वेस्टलैंड बुक्स) 

जेसीबी साहित्य पुरस्कार-

  • जेसीबी पुरस्कार 2018 में स्थापित एक भारतीय साहित्यिक पुरस्कार है। 
  • इसके तहत अंग्रेजी में काम करने वाले किसी भारतीय लेखक द्वारा उपन्यास के विशिष्ट कार्य या किसी भारतीय लेखक द्वारा अनुवादित कथा साहित्य के लिए प्रतिवर्ष ₹ 2,500,000 (US$31,000) का पुरस्कार दिया जाता है।  
  • अनुवादक को अतिरिक्त 10 लाख रुपये दिए जाते हैं।
  • शॉर्टलिस्ट किए गए पुस्तकों के लेखक में से प्रत्येक को ₹1 लाख का पुरस्कार दिया जाता है। 
  • यदि शॉर्टलिस्ट किया गया पुस्तक अनुवादित है, तो अनुवादक को ₹50,000 मिलते हैं।
  • इसे "भारत का सबसे मूल्यवान साहित्य पुरस्कार" कहा जाता है  
  • राणा दासगुप्ता जेसीबी पुरस्कार के संस्थापक साहित्यिक निदेशक हैं। 
  • पुरस्कार को बनाए रखने के लिए जेसीबी लिटरेचर फाउंडेशन की स्थापना की गई थी। 
  • इसे विनिर्माण समूह जेसीबी द्वारा वित्त पोषित किया जाता है । 

जेसीबी साहित्य पुरस्कार विजेता-

  • बेन्यामिन ने अपने उपन्यास ‘जैस्मीन डेज़’ के लिए वर्ष 2018 का पुरस्कार जीता , जो मूल रूप से मलयालम में लिखा गया था और शाहनाज़ हबीब द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित किया गया था।
  • माधुरी विजय ने अपने पहले उपन्यास ‘द फार फील्ड’ के लिए वर्ष 2019 का पुरस्कार जीता। 
  • एस. हरीश ने अपने उपन्यास ‘मूंछ’ के लिए वर्ष 2020 का पुरस्कार जीता , जो मूल रूप से मलयालम में लिखा गया था और जयश्री कलाथी द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित किया गया था।
  • एम. मुकुंदन खालिद जावेद ने अपने उपन्यास ‘दिल्ली: ए सोलिलोकी’ के लिए वर्ष 2021 का पुरस्कार जीता , जो मूल रूप से मलयालम में लिखा गया था और फातिमा ईवी और नंदकुमार के द्वारा अंग्रेजी में अनुवाद किया गया था।
  • खालिद जावेद ने अपने उपन्यास ‘द पैराडाइज ऑफ फूड’ के लिए वर्ष 2022 का पुरस्कार जीता , जो मूल रूप से उर्दू में लिखा गया था और बरन फारूकी द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित किया गया था।

प्रारंभिक परीक्षा के लिए प्रश्न-

प्रश्न- जेसीबी साहित्य पुरस्कार,2023 के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. यह उपन्यास 'फायर बर्ड' को दिया गया।
  2. 'फायर बर्ड' का तमिल से अंग्रेजी में अनुवाद पेरुमल मुरुगन द्वारा किया गया था।
  3. यह पुस्तक मूल रूप से आलंदा पैची के रूप में प्रकाशित हुई थी।

उपर्युक्त में से कितना/कितनें कथन सही है/हैं?

(a) केवल एक

(b) केवल दो

(c) सभी तीनों

(d) कोई नहीं

उत्तर- (b)

स्रोत- indian express

Have any Query?

Our support team will be happy to assist you!

OR