• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

Sanskriti Mains Mission: GS Paper - 1

बिस्मार्क की विदेश नीति ने यूरोप में राजनीतिक गुटबंदी का ऐसा माहौल तैयार कर दिया, जिसने प्रथम विश्वयुद्ध को अवश्यंभावी बना दिया। टिप्पणी करें। (250 शब्द)

22-Oct-2021 | GS Paper - 1

Solutions:

उत्तर प्रारूप

भूमिका (40-50 शब्द)

प्रथम विश्वयुद्ध से पूर्व यूरोप में शक्ति-संतुलन के साथ-साथ कूटनीतिक कारणों से उत्पन्न परिस्थितियों को संक्षेप में बताते हुए भूमिका लिखें।

मुख्य भाग (140-150 शब्द)

  • बिस्मार्क की कूटनीतिक संधियों, जैसे- त्रिगुट, मित्र-राष्ट्र और पुनराश्वासन की चर्चा करें।
  • रूस-तुर्की युद्ध के उपरांत बिस्मार्क द्वारा ऑस्ट्रिया के हितों को वरीयता दिये जाने की चर्चा करें।
  • फ़्राँस द्वारा अपनाई गई तुष्टीकरण की नीति की चर्चा करें।

निष्कर्ष (40-50 शब्द)

उपरोक्त तथ्यों के आधार पर प्रथम विश्वयुद्ध के उत्पन्न होने संबंधी कारकों को सम्मिलित करते हुए संक्षेप में निष्कर्ष लिखें।

« »
  • SUN
  • MON
  • TUE
  • WED
  • THU
  • FRI
  • SAT
CONNECT WITH US!

X