• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

शॉर्ट न्यूज़

शॉर्ट न्यूज़: 10 जून, 2022


परम अनंत सुपर कंप्यूटर

जन समर्थ पोर्टल

राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान


परम अनंत सुपर कंप्यूटर

चर्चा में क्यों

हाल ही में, अत्याधुनिक सुपर कंप्यूटर परम अनंत को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) गांधीनगर, गुजरात में स्थापित किया गया है।

परम अनंत

  • राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (NSM) के तहत विकसित यह सुपर कंप्यूटर 838 टेराफ्लॉप्स की क्षमता के साथ कार्य करने में सक्षम हैं। 
  • इसके विकास के लिये वर्ष 2020 में आई.आई.टी. गांधीनगर व सी-डैक के मध्य समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया।
  • यह सुपर कंप्यूटर कृत्रिम बुद्धिमत्ता , मशीन लर्निंग एवं डाटा विज्ञान, कंप्यूटेशनल फ्लुड डायनैमिक्स, जीनोम अनुक्रमण एवं  डीएनए अध्ययन , बायो इंजीनियरिंग, कंप्यूटेशनल जीवविज्ञान एवं जैव सूचना विज्ञान, परमाणु एवं आणविक विज्ञान, नैनोटेक्नोलॉजी, रोबोटिक्स, एप्लॉयड गणित, खगोल विज्ञान एवं खगोल भौतिकी, सामग्री विज्ञान, क्वांटम यांत्रिकी आदि क्षेत्रों में सहायता करेगा।   

राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन

मिशन का आरंभ: वर्ष 2015 में 

मिशन का कार्यान्वयन एवं संचालन : इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग 

मिशन का उद्देश्य: देश में सुपरकंप्यूटिंग बुनियादी ढाँचे का निर्माण करना ताकि शैक्षणिक समुदाय, अनुसंधानकर्ताओं, एम.एस.एम.ई. और स्टार्टअप्स की बढ़ती मांगों को पूरा किया जा सके

मिशन का लक्ष्य: वर्ष 2022 तक देश के राष्ट्रीय महत्व के शैक्षणिक और अनुसंधान संस्थानों में टेरा फ्लॉप्स और पेटा फ्लॉप्स सुपर कंप्यूटरों का एक नेटवर्क स्थापित करना 

मिशन के तहत निर्मित प्रथम सुपर कंप्यूटर: ‘परम शिवाय’ (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, वाराणसी में स्थापित)


जन समर्थ पोर्टल

चर्चा में क्यों

हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में क्रेडिट लिंक्ड सरकारी योजनाओं के लिये एक राष्ट्रीय पोर्टल ‘जन समर्थ पोर्टल’ को लॉन्च किया है।

प्रमुख बिंदु

  • यह सरकारी योजनाओं को जोड़ने वाला वन-स्टॉप डिजिटल पोर्टल है। वर्तमान में इस पोर्टल पर 13 सरकारी योजनाओं को शामिल किया गया है। यह अपनी तरह का पहला मंच है जो लाभार्थियों को सीधे ऋणदाताओं से जोड़ता है। 
  • इस पोर्टल का मुख्य उद्देश्य विभिन्न क्षेत्रों के समावेशी विकास को सरल एवं आसान डिजिटल प्रक्रियाओं के माध्यम से सुनिश्चित करना है, ताकि उचित सरकारी लाभों को लाभार्थियों तक पहुँचाया जा सके।
  • यह पोर्टल कृषि, आजीविका और शिक्षा श्रेणियों के तहत सरकारी योजनाओं के अंतर्गत ऋण की सुविधा प्रदान करेगा। 
  • यह पोर्टल सी.बी.डी.टी., जीएस.टी, एन.ई.एस.एल., यू.आई.डी.ए.आई. आदि के साथ वास्तविक समय में जाँच के माध्यम से ऋण की प्रक्रिया तेजी से पूरी करना सुनिश्चित करता है।
  • यह पोर्टल लाभार्थियों को ऋण प्रक्रिया के प्रत्येक चरण की नवीनतन जानकारी से अवगत भी कराता है।

राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान

चर्चा में क्यों

हाल ही में, गृहमंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा मनाए जा रहे 'आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान (National Tribal Research Institutes: NTRI) का उद्घाटन किया है। 

प्रमुख बिंदु

  • यह एक राष्ट्रीय स्तर का संस्थान है जो शैक्षणिक, कार्यकारी और विधायी क्षेत्रों में जनजातीय चिंताओं, मुद्दों और मामलों का केंद्रीय संस्थान होगा।
  • यह प्रतिष्ठित अनुसंधान संस्थानों, विश्वविद्यालयों, संगठनों के साथ-साथ शैक्षणिक निकायों एवं संसाधन केंद्रों के साथ मिलकर कार्य करेगा। 
  • यह जनजातीय अनुसंधान संस्थानों एवं उत्कृष्टता केंद्रों की परियोजनाओं की निगरानी करेगा और अनुसंधान एवं प्रशिक्षण की गुणवत्ता में सुधार के लिये मानक तय करेगा।
  • इसके अन्य कार्यों में जनजातीय कार्य मंत्रालय के साथ-साथ राज्य कल्याण विभागों को नीतिगत जानकारी प्रदान करना शामिल है, ताकि जनजातीय जीवन शैली के सामाजिक-आर्थिक पहलुओं में सुधार किया जा सकें। 
  • यह संस्थान विभिन्न विशिष्ट आदिवासी समुदायों के समृद्ध स्वदेशी इतिहास, सांस्कृतिक विरासत और कला पर शोध कार्यों को आगे बढ़ाएंगे।
  • यह संस्थान जनजातीय आबादी के लिये जमीनी स्तर पर योजनाओं, कार्यक्रमों एवं नीतियों के परिणाम आधारित क्रियान्वयन हेतु कार्य करेगा, जिससे जनजातीय आबादी को अच्छी आजीविका, स्वास्थ्य, शिक्षा और आत्म-निर्भरता एवं सशक्तिकरण में सहायता मिलेगी।

CONNECT WITH US!

X