New

राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग विधेयक का मसौदा (Draft National Pharmacy Commission Bill)

प्रारंभिक परीक्षा – राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग
मुख्य परीक्षा- सामान्य अध्ययन, पेपर-3  

चर्चा में क्यों

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 20 नवंबर 2023 को प्रस्तावित राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग विधेयक, 2023 पर जनता और हितधारकों से टिप्पणियां आमंत्रित की।

Pharmacy-Commission-Bill

प्रमुख बिंदु 

  • प्रस्तावित विधेयक का उद्देश्य फार्मेसी अधिनियम, 1948 और मौजूदा फार्मेसी काउंसिल आफ इंडिया (पीसीआइ) को राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग से बदलना है।
  • नए फॉर्मेसी आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली में होगा।
  • इसमें एक चेयरपर्सन के साथ 13 पूर्व अधिकारी और 14 अंशकालिक सदस्य होंगे।
  • यह विधेयक पेशेवरों के कार्य में नवीनतम शोध को एकीकृत करने, अनुसंधान में योगदान देने और उच्च नैतिक मानकों को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • इस विधेयक फार्मेसी संस्थानों के नियमित, पारदर्शी मूल्यांकन के साथ ही राष्ट्रीय फार्मेसी रजिस्टर विधेयक में एक आयोग गठित करने का प्रस्ताव है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में होगा।
  • इसमें फार्मेसी संस्थानों के आवधिक और पारदर्शी मूल्यांकन और भारत के लिए फार्मेसी रजिस्टर के रखरखाव की सुविधा का भी आह्वान किया गया है।
  • विधेयक पेशेवरों को नवीनतम अनुसंधान को अपने काम में एकीकृत करने, अनुसंधान में योगदान देने और उच्च नैतिक मानकों को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विधेयक के मसविदे को 14 नवंबर 2023 को वेबसाइट पर अपलोड किया और इस पर जनता की राय मांगी है।

प्रस्तावित विधेयक का उद्देश्य

  • एक फार्मेसी शिक्षण प्रणाली बनाना है जो गुणवत्तापूर्ण और किफायती फार्मेसी या फार्मास्युटिक शिक्षा तक पहुंच को सुगम बनाएगा
  • देश के सभी हिस्सों में पर्याप्त और उच्च गुणवत्ता वाले फार्मेसी पेशेवरों की उपलब्धता सुनिश्चित करना 
  • समान और सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल को बढ़ावा देना 
  • फार्मेसी पेशेवरों की सेवाएं सभी नागरिकों तक सुगमता से उपलब्ध कराना
  • फार्मेसी संस्थानों का पारदर्शी मूल्यांकन करना 
  • फार्मेसी आचार और पंजीकरण बोर्ड के पास एक राष्ट्रीय फार्मेसी रजिस्टर होगी जिसमें पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए फार्मेसी पेशेवरों का विवरण रखा जाएगा 

प्रश्न: निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 

  1. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग विधेयक, 2023 का उद्देश्य फार्मेसी अधिनियम, 1948 और फार्मेसी काउंसिल आफ इंडिया (पीसीआइ) को राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग से बदलना है।
  2. यह विधेयक फार्मेसी संस्थानों के नियमित, पारदर्शी मूल्यांकन के साथ ही राष्ट्रीय फार्मेसी रजिस्टर विधेयक में एक आयोग गठित करने का प्रस्ताव है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में होगा।

उपर्युक्त में से कितने कथन सही हैं ?

 (a) केवल 1   

(b) केवल 2  

(c) कथन 1 और 2  

(d)  न तो 1, न ही 2

उत्तर: (c)

मुख्य परीक्षा प्रश्न : राष्ट्रीय फार्मेसी आयोग विधेयक, 2023 के प्रमुख उद्देशों की विवेचना कीजिए।

स्रोत: the hindu

Have any Query?

Our support team will be happy to assist you!

OR