• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

शॉर्ट न्यूज़

शॉर्ट न्यूज़ : 04 नवंबर, 2022


मियां संग्रहालय

वेतन इक्विटी नीति


मियां संग्रहालय

चर्चा में क्यों

हाल ही में, असम में बंगाली भाषा या बंगाल मूल के मुसलमानों की संस्कृति को प्रदर्शित करने वाले ‘मियां संग्रहालय’ को सील कर दिया गया है।

विवाद का विषय

  • यह असम के गोलपारा ज़िले में अवस्थित है, जिसे प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत आवंटित आवास को निर्धारित नियमों का उल्लंघन करके संग्रहालय में परिवर्तित करके बनाया गया है। 
  • इस क्षेत्र में ‘मियां’ शब्द का इस्तेमाल बंगाल मूल के मुसलमानों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक अपमानजनक शब्द है।
  • विदित है कि वर्ष 2020 में भी असम में श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र परिसर में मियां संग्रहालय की स्थापना को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ था। इसे चार-चपोरी क्षेत्र के मियां लोगों की संस्कृति और विरासत को दर्शाने हेतु स्थापित किया गया था। 

चार-चपोरी क्षेत्र

  • चार-चपोरी क्षेत्र को बंगाल मूल के मुस्लिमों, जिन्हें 'मियां' के नाम से जाना जाता है, के द्वारा बसाया गया है। इन पर मुख्यतः बंगाल मूल के मुसलमानों का कब्ज़ा है, लेकिन अन्य समुदायों जैसे मिसिंग, देओरिस, कोचरिस तथा नेपाली भी यहाँ निवास करते हैं।
  • इस क्षेत्र के लोगों को मिट्टी के कटाव, बाढ़, अशिक्षा, अवैध-प्रवासन, उच्च जनसंख्या वृद्धि और उनके विरुद्ध घृणित अपराध सहित कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनकी आबादी का 80% हिस्सा गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन कर रहा है।
  • विदित है कि चार-चपोरी क्षेत्र में ‘चार’ ब्रह्मपुत्र नदी पर तैरता हुआ द्वीप है, जबकि ‘चपोरी’ बाढ़-संभावित निम्न नदी-तटों पर स्थित क्षेत्र है। ब्रह्मपुत्र नदी के प्रवाह के कारण ये दोनों क्षेत्र अपना आकार परस्पर एक- दूसरे में बदलते रहते हैं। 

वेतन इक्विटी नीति

चर्चा में क्यों 

हाल ही में, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अनुबंधित महिला क्रिकेट खिलाड़ियों के लिये वेतन इक्विटी नीति (Pay Equity Policy) लागू करने की घोषणा की है। 

प्रमुख बिंदु 

  • नई नीति के अनुसार, महिला क्रिकेटरों को पुरुषों के समान मैच फीस का भुगतान किया जाएगा, जो इस प्रकार है-  
    • टेस्ट मैच - 15 लाख रुपए 
    • एकदिवसीय मैच - 6 लाख रुपए 
    • टी20 - 3 लाख रुपए
  • इससे पूर्व भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ियों को टेस्ट मैच के लिये 4 लाख रुपए तथा टी20 एवं वनडे के लिये 1 लाख रुपए का भुगतान किया जाता था।
  • विदित है कि महिला और पुरुष क्रिकेट खिलाड़ियों के लिये समान वेतन व्यवस्था का प्रावधान करने वाला पहला देश न्यूजीलैंड है। इसने जुलाई 2022 में इसे लागू किया।

रिटेनरशिप भुगतान प्रणाली

  • क्रिकेट में मैच फीस के अलावा रिटेनरशिप भुगतान प्रणाली की भी व्यवस्था है। उल्लेखनीय है कि अभी इसमें कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।
  • इस प्रणाली के तहत ग्रेड ए महिला क्रिकेट खिलाड़ियों को 50 लाख रुपए, ग्रेड बी को 30 लाख रुपए और ग्रेड सी को 10 लाख रुपए का भुगतान किया जाता है।
  • जबकि पुरुष क्रिकेट खिलाड़ियों को उनके ग्रेड के आधार पर 7 करोड़ रुपए से 1 करोड़ रुपए के बीच भुगतान किया जाता है। 

CONNECT WITH US!

X