• Sanskriti IAS - अखिल मूर्ति के निर्देशन में

शॉर्ट न्यूज़

शॉर्ट न्यूज़: 15 सितम्बर, 2022


मंथन

जिमेक्स-2022


मंथन

चर्चा में क्यों

हाल ही में, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बेंगलुरु में ‘मंथन’ का उद्घाटन किया।

प्रमुख बिंदु

  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने तीन-दिवसीय आमंत्रण सम्मेलन सह-सार्वजनिक एक्सपो- ‘मंथन’ का आयोजन किया है।
  • मंथन का मूल विषय ‘अवधारणाओं से कार्य तक : एक स्मार्ट, टिकाऊ, सड़क सुविधा, गतिशीलता और रसद पारितंत्र की ओर’ है।
  • इस कार्यक्रम के दौरान परिवहन विकास परिषद की 41वीं बैठक का आयोजन भी किया गया।

मुख्य उद्देश्य

  • सड़क, परिवहन और रसद  क्षेत्र से संबंधित विषयों व अवसरों पर चर्चा करना 
  • सर्वोत्तम प्रथाओं को को साझा करना
  • नीतिगत समर्थन और क्षमता विकास करना
  •  राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों और उद्योग क्षेत्र के अन्य प्रमुख हितधारकों के साथ समन्वय स्थापित करना

चर्चा के प्रमुख क्षेत्र 

  • इस कार्यक्रम के लिये चर्चा के तीन व्यापक क्षेत्रों का निर्धारण किया गया है। ये क्षेत्र हैं- 
    • पहला, सड़क विकास, नई सामग्री और प्रौद्योगिकी एवं सड़क सुरक्षा सहित सड़कों के बारे में
    • दूसरा, ई.वी. (EV) और वाहन सुरक्षा आदि सहित परिवहन क्षेत्र
    • तीसरा, रोपवे, मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक पार्क, पर्वतमाला और डिजिटल इंटरवेंशन सहित वैकल्पिक तथा भविष्य का आवागमन की गतिशीलता
  • इस दौरान नेक्स्ट-जेन एम परिवहन मोबाइल ऐप भी लांच किया गया।

जिमेक्स-2022

चर्चा में क्यों

11 सितंबर को जापान-भारत समुद्री अभ्यास का छठा संस्करण बंगाल की खाड़ी में प्रारंभ हुआ। इसका आयोजन भारतीय नौसेना द्वारा किया जा रहा है।

जिमेक्स-22

  • यह संस्करण जिमेक्स की 10वीं वर्षगांठ का प्रतीक है, जो वर्ष 2012 में जापान में शुरू हुआ था।
  • गौरतलब है कि यह वर्ष भारत और जापान के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ भी है।
  • जिमेक्स-22 सतह, उप-सतह और वायु क्षेत्र में जटिल अभ्यासों के माध्यम से दोनों देशों के समुद्री बलों के बीच उच्च स्तर की अंतःक्रियाशीलता को मजबूत करने का प्रयास है।
  • जिमेक्स-22 में दो चरण शामिल हैं- समुद्र में अभ्यास और विशाखापत्तनम में बंदरगाह चरण।

प्रमुख बिंदु

  • इस अभ्यास में भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व स्वदेशी रूप से डिजाइन और निर्मित तीन वॉरशिप्स द्वारा किया जा रहा है।
  • इनमें बहुउद्देश्यीय स्टील्थ फ्रिगेट 'सह्याद्रि' और पनडुब्बी रोधी युद्धपोत 'कदमत' एवं 'कवरत्ती' शामिल हैं। 
  • इसके अतिरिक्त गाइडेड मिसाइल विध्वंसक रणविजय, फ्लीट टैंकर ज्योति, अपतटीय गश्ती पोत सुकन्या, एमआईजी29के लड़ाकू विमान आदि ने भी अभ्यास में भाग लिया है।

CONNECT WITH US!

X